Become a online seller - E-commerce ideas, Zero Investments, Jobs, Franchise information in Hindi.

Amazon Ad.

Post Top Ad

Monday, 27 April 2020

Become a online seller

How to sell product online in India A to Z information- -


आज मैं आपको बताऊंगा की कैसे आप ई - कामर्स बिजनेस कर सकते हैं। इस ई - बुक में पूरी जानकारी विस्तारपूर्वक मिल जाएगी।

यह ई - बुक उनलोगों के लिए है जो ई - बिजनेस स्टार्ट कर चुके हैं या करना चाहते हैं। ई - बुक को आपको ध्यान से पढ़ना होगा तभी आप समझ पाएंगे कि ई - काॅमर्स बिजनेस कर सकते हैं। 

आप चाहें तो महत्वपूर्ण बिंदुओं को नोट कर सकते हैं। यह ई - बुक थोड़ी सी लम्बी है क्योंकि हम इसमें सभी बिंदुओं को कवर करेंगे। 
इस ई - बुक के द्वारा अगर आप व्यापार में नए हैं तो भी आप बड़ी आसानी से ई - काॅमर्स बिजनेस कर पाएंगे। ई - काॅमर्स बिजनेस में सबसे पहले आपको प्रोडक्ट की आवश्यकता होगी।



1. Choice Right Products     ( प्रोडक्ट )


• सबसे पहले आपको अच्छे प्रोडक्ट के लिए सर्च करना होगा, प्रोडक्ट में वेट कम होना चाहिए।

• प्रोडक्ट का साईज भी कम होना चाहिए। हमारी लाॅजिस्टिक कोस्ट प्रोडक्ट के वेट और साईज पर हीं निर्भर करती है।

• प्रोडक्ट जल्दी से टूटने वाला नहीं होना चाहिए। प्रोडक्ट भेजने के दौरान जल्दी से टूट भी जाते हैं। तो प्रोडक्ट भेजते समय हमें अच्छी पैकिंग का ध्यान रखना चाहिए।





• प्रोडक्ट में अच्छा मार्जिन होना चाहिए क्योंकि कंपनियां अपना कमीशन, प्रोसेसिंग फीस, क्लोजिंग फीस और भाड़ा काटती है। इसिलिए प्रोडक्ट में अच्छा खासा मुनाफा होना चाहिए।

• आपके पास में हीं ऐसे हाॅलसेल मार्केट / मैनूफैक्चर्स की चोईस करें, प्रोडक्ट पास में मिलने का यह फायदा होता है कि हम प्रोडक्ट का कम स्टोक ले सकते हैं। हमारी लौजिस्टिक कोस्ट बचती है, प्रोडक्ट के खत्म होने पर उसे आसानी से और जल्दी ला सकते हैं।

• छोटे मैनूफैक्चर की चोईस करें और उनके साथ एग्रीमेंट करें कि उनके प्रोडक्ट को ऑनलाईन वही सेल करेंगे। 

• प्रोडक्ट न केवल सुन्दर होना चाहिए बल्कि वह दैनिक जीवन में उपयोगी भी होना चाहिए। अगर प्रोडक्ट केवल सुन्दर होगा लेकिन उसका प्रयोग दैनिक जीवन में नहीं होगा तो वह सेल नहीं होगा।

• जब भी आप ऑनलाईन व्यापार करना चाहें तो प्रोडक्ट सबसे महत्वपूर्ण है आप शुरूआत में ब्रांडेड प्रोडक्ट बेचने से बचें उसमें आपको अधिक लागत की आवश्यकता पड़ेगी साथ ही साथ आपको ब्रांडेड कंपनियों से जिनका आप सामान बेचना चाहते हैं उनसे लिखित अनुमति भी लेनी होगी।



2. How to choice business place    ( व्यापार स्थान )


अगर आपके पास अपना स्थान है तो यह बहुत हीं अच्छा रहेगा लेकिन अगर आपके पास अपनी जगह नहीं है तो कोई भी स्थान ले सकते हैं। इसमें कोई मुख्य बाजार की आवश्यकता नहीं होती है। 

• ध्यान रखिए कि आपकी जगह ऐसी हो जहाँ कंपनियों की गाड़ियाँ ऑर्डर लेने और ऑर्डर वापिस करने आराम से आ जा सके।

• आप प्रथम तल का चुनाव करें जिस से सामान आसानी से आ जा सके।

• आप कोई छोटी जगह से व्यापार शुरू कर सकते हैं।


3. डाॅक्यूमेंट 



• जी.एस.टी
• पैन कार्ड
• आधार कार्ड
• रैंट एग्रीमैंट / एडर्स डाॅक्यूमेंट
• करेंट खाता 
• कैंसल चैक
• डिजिटल साईन

4. ई - काॅमर्स कंपनियों के साथ पंजीकरण 


• स्नैपडील के साथ पंजीकरण के लिए seller.snapdeal.com पर लाॅग ईन करें।



• पेटीएम के साथ पंजीकरण करने के लिए seller.paytm.com पर लाॅग ईन करें।




• अमेजन के साथ पंजीकरण के लिए seller.amazon.in पर लाॅग ईन करें ।



• फ्लिपकार्ट के साथ पंजीकरण के लिए seller.flipkart.com पर लाॅग ईन करें ।



पंजीकरण के बाद यही कंपनियां आपको अपना सेलर पैनल दे देगी उसके द्वारा आप अपने प्रोडक्ट को आसानी से बेच पाएंगे।

5. प्रोडक्ट फोटोशूट


आप जिस प्रोडक्ट को बेचना चाहते हैं पहले उनका फोटोशूट करना होगा, आप खुद किसी मोबाईल के द्वारा या किसी फोटोग्राफर के द्वारा कर सकते हैं।

• प्रोडक्ट की बैकग्राउंड सफेद होनी चाहिए।
• प्रोडक्ट की सभी साईड साफ होनी चाहिए।
• प्रोडक्ट की सभी तरफ से फोटो शूट कराएं।



6. ऑर्डर प्रोसेसिंग -


• लिस्टिंग के बाद जब हमारे पास ऑर्डर आने लगते हैं हमारे पास 1 दिन का समय होता है ऑर्डर प्रोसेस करने के लिए अन्यथा 1 दिन से अधिक होने पर कंपनियां हमारे ऊपर जुर्माना लगा देती है।

• और अगर हम किसी ऑर्डर को कैंसिल करते हैं तो हमारी सेलर रेटिंग डाऊन कर दी जाती है या हमें काफी अधिक जुर्माना देना पड़ता है।

• और अगर हम बार बार ऑर्डर कैंसिल करते हैं तो हमारा सेलर अकाउंट बंद कर दिया जाता है या हमें काफी अधिक जुर्माना देना पड़ता है।

• प्रोडक्ट को भेजने से पहले उसकी क्वालिटि चेक कर लें और जो ऑर्डर आया है वही प्रोडक्ट भेजें।

7. पैमेंट -


हर कैटेगिरी के लिए कंपनी ने कमीशन रेट बना रखा है वो कमीशन रेट आपसे लेंगे, क्लोजिंग फीस लेंगे उसके बाद पेमेंट 15-20 दिनों में भेज देंगे।

• पैमेंट आपके खाते में भेज दिया जाएगा।

8. प्रोडक्ट रिटर्न्स -


प्रोडक्ट रिटर्न्स आनलाईन व्यापार में सबसे बड़ी दिक्कत है, जब भी आपके पास रिटर्न्स आए, प्रोडक्ट बाॅक्स को अच्छी तरह चेक कर लें वो कहीं से खुला हुआ या टूटा / फटा है तो आप पी.ओ.डी ( रिटर्न्स के समय देनेवाला डाॅक्यूमेंट ) अगर लाॅजिस्टिक पार्टनर के पास पी.ओ.डी नहीं है तो प्रोडक्ट खोलते समय उसका विडियो अवश्य बना लें।

• प्रोडक्ट बाॅक्स टूटा / खुला होने पर पी.ओ.डी पर रिमार्क करना ना भूलें।

• अडर लाॅजिस्टिक पार्टनर पी.ओ.डी पर रिमार्क नहीं कर रहा है तो उसका एक विडियो अवश्य बना लें।

• बाॅक्स खोलते समय उसका एक विडियो अवश्य बना लें। और क्लेम के समय कंपनी के मांगने पर उन्हें दें।

• टूटे प्रोडक्ट के सभी एंगल से फोटो लेकर हम उक्त कंपनी से क्लेम ले सकते हैं, कंपनी हमारे क्लेम की जांच करेगी और हमें सही पाए जाने पर उस प्रोडक्ट की कीमत दे दी जाएगी।


महत्वपूर्ण जानकारी -


शुरूआत में बिजनेस सेटअप में कधिक खर्चा ना करें। आप एक कंप्यूटर और प्रिंटर के साथ यह व्यापार शुरू कर सकते हैं। इसके अलावा आपको और किसी सेटअप की आवश्यकता नहीं है।

व्यापार करने का सही तरीका यही है कि पहले आप उस व्यापार से कुछ पैसा कमा लें फिर वही पैसा उसी व्यापार में लगाएं। आप कम से कम पूंजी के साथ अपना व्यापार शुरू करें, मुनाफा कमाएं, और फिर उसी पैसे को व्यापार में लगाएं।

No Man Power -


शुरूआत में ई - कामर्स व्यापार में आपको किसी भी मैनपावर की जरूरत नहीं है। आप खुद हीं आप खुद हीं ऑर्डर्स पैक और प्रोसेस कर सकते हैं।
जब आपका व्यापार अच्छा खासा चलने लगे और आपको अधिक ऑर्डर आने लगे तब आप मैनपावर रख लें।


ये गलतियां कभी ना करें -



• ब्रांडेड कंपनियों से जिनका आप सामान बेचना चाहते हैं उनसे लिखित अनुमति के बिना अगर आप सामान बेचते हैं तो आपका सेलर अकाउंट हमेशा के लिए बंद कर दिया जाएगा।

• ऑर्डर हमेशा कंपनी के दिए हुए समय पर हीं भेजें अन्यथा आपका सेलर अकाउंट बंद कर दिया जाएगा।

• प्रोडक्ट क्वालिटि पर विशेष ध्यान रखें क्योंकि बार - बार शिकायत आने पर कंपनी आपको सामान बेचने से रोक सकती है।

• कंपनी द्वारा बताए गए नियमों का हमेशा पालन करें।

For more detail You Can read this Book ,book available on amazon.

                                                           Click Here



in this book all these topic will be cover


1- What is Online Business?

2- Why you should start Online Business?

3- How you can start online Business (A TO Z Detail in Short)?

4-What is Right Strategies to Start Online Business with 0 Investment?

5-Proprietorship v/s Partnership v/s Private Limited Company All about Company Registration in INDIA

6-GST for Online Seller

7-Seller registration Process

8-Products require starting online Business

9-Packaging Material


10-How to Decide Products for online sell

11-Impotence of branding and what is Private level brand?

12-How to Create your Private Label Brand

13-FBA & Prime for Amazon Sellers

14-Amazon Flex & Amazon FBA/Amazon Flex


15- Who Should Start Online Business


16-Reasons why you’re ONLINE SELLER Account can BLOCK

17-How to Reactivate Your Suspended Seller Account


18-Challenges in Online Selling On Marketplaces & Own Store


19-Who should not Start Online Busines


No comments:

Post a comment

Post Bottom Ad